2020-21 रबी खाद्यान्न उत्पादन पिछले रिकॉर्ड को पार कर सकता है: नरेंद्र सिंह तोमर

सार

इस रबी सीजन में अब तक गेहूं की बुवाई का रकबा 4 फीसदी बढ़कर 325.35 लाख हेक्टेयर हो गया है, जबकि बेहतर मॉनसून बारिश से दलहन का रकबा 5 फीसदी बढ़कर 154.80 लाख हेक्टेयर हो गया है. इस रबी सीजन में अब तक धान की बुवाई मामूली घटकर 14.83 लाख हेक्टेयर रह गई है, जो पिछले वर्ष की इसी अवधि में 15.47 लाख हेक्टेयर थी।

नई दिल्ली: कृषि मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर के अनुसार, चालू 2020-21 फसल वर्ष में गेहूं सहित देश का रबी खाद्यान्न उत्पादन पिछले वर्ष के रिकॉर्ड 153.27 मिलियन टन से बेहतर होने की उम्मीद है।

रबी (शीतकालीन) फसलों की बुवाई चल रही है। खरीफ (गर्मी) फसलों की कटाई के तुरंत बाद अक्टूबर से रबी की बुवाई शुरू हो जाती है। गेहूं और सरसों रबी की प्रमुख फसलें हैं। फसल वर्ष जुलाई से जून तक चलता है।

पीटीआई से बात करते हुए, तोमर ने कहा कि देश के कृषि क्षेत्र ने 2020 के दौरान अच्छा प्रदर्शन किया है क्योंकि खरीफ सीजन में खाद्यान्न उत्पादन में रिकॉर्ड वृद्धि हुई है, जिसमें किसान COVID-19 महामारी के बावजूद कड़ी मेहनत कर रहे हैं और अपनी प्रासंगिकता साबित कर रहे हैं।

उन्होंने कहा, “इस साल, हमें पिछले साल (उसी सीजन) की तुलना में रबी सीजन में बेहतर खाद्यान्न उत्पादन की उम्मीद है।”

फसल वर्ष 2020-21 के लिए, केंद्र ने 301 मिलियन टन के रिकॉर्ड खाद्यान्न उत्पादन का लक्ष्य रखा है, जिसमें से 151.65 मिलियन टन रबी सीजन से आने की उम्मीद है।

इसके अलावा, मंत्री ने कहा कि विपणन पर दो नए कृषि कानूनों, 10,000 एफपीओ (किसान उत्पादक संगठन) के गठन, 1 लाख करोड़ रुपये के कृषि अवसंरचना कोष सहित हालिया सरकारी पहलों में प्रगति से भी किसानों को लाभ होगा और इस क्षेत्र को बढ़ावा मिलेगा।

उन्होंने कहा, “मुझे उम्मीद है कि किसानों की कड़ी मेहनत और मोदी सरकार की किसान समर्थक नीतियों से कृषि क्षेत्र को मजबूती मिलेगी। नए सुधारों से भी इस क्षेत्र को फायदा होगा।”

आधिकारिक आंकड़ों के मुताबिक इस रबी सीजन में अब तक गेहूं की बुवाई का रकबा 4 फीसदी बढ़कर 325.35 लाख हेक्टेयर हो गया है, जबकि बेहतर मॉनसून बारिश से दलहन का रकबा 5 फीसदी बढ़कर 154.80 लाख हेक्टेयर हो गया है.

इस रबी सीजन में अब तक धान की बुवाई मामूली घटकर 14.83 लाख हेक्टेयर रह गई है, जो पिछले वर्ष की इसी अवधि में 15.47 लाख हेक्टेयर थी।

इस रबी सीजन में अब तक मोटे अनाज का रकबा 45.12 लाख हेक्टेयर रहा है, जो एक साल पहले इसी अवधि में 49.90 लाख हेक्टेयर था। हालांकि, तिलहन की बुवाई का रकबा एक साल पहले के 75.93 लाख हेक्टेयर से बढ़कर 80.61 लाख हेक्टेयर हो गया है।

आंकड़ों से पता चलता है कि विभिन्न रबी फसलों के तहत कुल बुवाई 603.15 लाख हेक्टेयर से बढ़कर 620.71 लाख हेक्टेयर हो गई है।

सरकार के चौथे अग्रिम अनुमान के अनुसार, फसल वर्ष 2019-20 में देश का कुल खाद्यान्न उत्पादन रिकॉर्ड 296.65 मिलियन टन रहा।

.